Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi

सुकन्या समृद्धि योजना प्रधानमंत्री द्वारा कन्याओं या बेटियों के हित में उठाए गए कदमों में से एक है। जो कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के दौरान ही 22 जनवरी 2014 को लागू हुआ था।इस योजना से जुड़ने से बेटी के उच्च शिक्षा प्राप्ति के लिए हो या उसके विवाह के खर्चों लिए आर्थिक दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा। जैसा कि अधिकतर गरीब परिवारों या साधारण वर्ग को झेलना पड़ता है। यह एक छोटी बचत योजना (PM Kanya Yojana) है। जिसमें साधारण से साधारण परिवार के लोग भी अपने रोज के खर्चों से कुछ बचा कर इस योजना से जुड़ सकते हैं। क्योंकि इसमें छोटी से छोटी रकम भी जमा की जा सकती है । इसलिए इस योजना के अंतर्गत आपके जमा किए गए कुछ रुपए ही 21 वर्ष बाद तक अच्छी खासी रकम बनकर आपको पुनः प्राप्त होती है। इसके साथ ही इस योजना की बड़ी ही अच्छी बात यह है की प्रत्येक 3 महीने पर इस योजना में संशोधन किया जाता है।आईए इसकी विस्तृत जानकारियां प्राप्त करते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना( s s y) क्या है | What is Sukanya Yojana

जैसा कि हमने ऊपर ही आपको बताया कि यह साधारण वर्ग की बेटियों के हित में उनकी पढ़ाई तथा उनके शादी के खर्चों में मदद देने के भाव से बनाई गई एक योजना है। जिसमें वर्तमान समय में लगभग साढ़े सात प्रतिशत ब्याज की सुविधा प्रदान की जा रही है इनकम टैक्स की छूट के सहित। इसके पूर्व इस योजना में लगभग सवा नौ प्रतिशत की कर रहित ब्याज भी प्रदान किया जा चुका है। वित्तीय योजना की शोधकर्ता के अनुसार निवेश बाजार पर विश्वास करने से बचने वाले लोगों के लिए यह योजना (sukanya samriddhi yojana scheme) बड़ी ही उत्तम है। क्योंकि इसमें आपके द्वारा जमा की गई राशि सूद सहित सुरक्षित प्रदान की जाती है आपको।

SSY  KE  क्या लाभ हैं | Sukanya Yojna Benefits

१. बाजार की ब्याज दर की तुलना में इस योजना में अधिक ब्याज दर की सुविधा है।

२. साधारण परिवार के लिए बच्ची के बालिक होने पर मिलने वाली सहयोग राशि एक बड़ी ही महत्वपूर्ण राशि सिद्ध हो सकती है।

३. इस योजना में (income tax) आय कर विभाग की धारा 80 सी के अनुसार अच्छे सूद प्राप्त होते हैं।

४. इसमें प्रतिवर्ष 250 तक की न्यूनतम राशि भी जमा करने तक की भी छूट है। पहले या छुट न्यूनतम1000 रुपए की थी लेकिन अब इसे और भी कम कर दिया गया है।फिर चाहे लोग अपनी सुविधा के अनुरूप राशि को डेढ़ लाख तक बढ़ाकर भी जमा कर सकते हैं। इसकी अधिकतम जमा राशी डेढ़ लाख तक सीमित है।

५. इस योजना (sukanyasamrudhiyojana) में खाते को स्थानांतरित कराने में परेशानी नहीं होती। यदि आप का निवास स्थान बदल जाए तो बड़ी सरलता से देश के किसी भी बैंक किया डाकघर में इसे स्थानांतरित करवा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना की आवश्यक शर्तें:-

१. सुकन्या समृद्धि योजना केवल कन्याओं (बेटियों) के लिए है। अतः इसका लाभ केवल बेटियों को ही मिल सकता है।

२. इस खाते को खुलवाने के लिए बेटी की उम्र 10 वर्ष से कम होनी आवश्यक है।

३. बच्ची के एक गार्जियन (parent) इस योजना के अंतर्गत केवल दो ही खाते खुलवा सकते हैं। अर्थात दो बच्चियों के लिए एक-एक खाता खुलवा सकते हैं। लेकिन यदि जुड़वा बच्चियां हो और उनके अलावा एक और बच्ची के होने पर तीनों के खाते एक ही अभिभावक को खुलवाने की आज्ञा होगी।

४. इसके साथ ही बेटियों का आयु प्रमाण पत्र भी आवश्यक होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना 2021 में किन लोगों की भूमिका होती है:-

१. इस योजना में पहली भूमिका डाकघर(post office) की होती है। जिसका तात्पर्य ही होता है बचत करने वाला। जोकि बैंक से जुड़े कार्यों को करने तथा इन नियमों के अनुरूप सुकन्या समृद्धि खाता खोलने का अधिकारी है।

२. इसके लिए डाकघर के अलावा रिजर्व बैंक द्वारा उपरोक्त नियमों के अनुरूप सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के अधिकारी कोई भी बैंक इस खाते को खोलने की भूमिका निभा सकती है।

३. तथा इस योजना के अंतर्गत कन्या (बेटी) के माता पिता की भी महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। क्योंकि बच्ची के बालिक होने तक माता-पिता ही उसके तथा उसके संपत्ति के संरक्षक है।

इस खाते को कैसे खुलवाया जाता है:-

१. इसे खुलवाने हेतु सर्वप्रथम आपको बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाकर सुकन्या समृद्धि फॉर्म लेना होगा।

२ बेटी का जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए।

३ तथा बेटी के अभिभावक का परिचय पत्र होना चाहिए। जैसे कि आधार कार्ड ,पैन कार्ड ,ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि चीजें। इन्हीं चीजों से आपके निवास स्थान का भी प्रमाणीकरण हो जाएगा।

४. अपने फॉर्म को भर कर उपरोक्त दस्तावेजों में से जमा करने के लिए अनिवार्य दस्तावेजों को चुनकर उसके साथ अटैच कर दें और उसे जमा कर दें।

५. तत्पश्चात आपके द्वारा जमा किए गए दस्तावेजों का सत्यापन होने के बाद आपकी बच्ची का सुकन्या समृद्धि खाता खुल जाएगा।

सुकन्या समृद्धि योजना २०२१ की महत्वपूर्ण बातें:-

१.इस योजना के अंतर्गत आपको खाता खुलवाने के दिन से लेकर इसके 14 वर्ष पूर्ण होने तक पैसे जमा करने होते हैं। जबकि इसकी वैल्यू प्रथम दिवस लेकर 21 वर्ष पूर्ण होने तक होती है।

२. 14 वर्ष तक इसमें पैसे जमा करने होते हैं। तभी बाकी के 7 वर्षों में इसके ब्याज मिलते रहते हैं।

३. तथा कन्या के बालिक हो जाने के पश्चात इस धन का 50% निकाल भी सकते हैं।

४. इस खाते में यदि प्रतिवर्ष ₹1000 जमा किए गए। तो 21 वर्ष पश्चात आपको (5,42,125 ) पांच लाख बयालीस हजार एक सौ पच्चीस रुपए प्रदान किए जाएंगे। तथा इसी हिसाब से इस से 2 गुना राशि जमा करने पर दोगुने रकम तथा उससे भी अधिक जमा करने पर उससे अधिक रकम लौटाए जाने की व्यवस्था है।

सुकन्या योजना उपयोगी लिंक

उपयोगी लिंक

सरकारी योजनायेंहोम जॉब्सपैसे कमाने वाले एप
मोटिवेशनलफुल फॉर्मबैंक लोन
ऑनलाइन जॉब्सस्वास्थ्य टिप्सबिजनेस आईडिया

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *