Ladli Lakshmi Yojana Poster

अगर आपके यहाँ बेटी का जन्म हुआ है और आप मध्य प्रदेश के निवासी है तो आज की खबर आपके बहुत काम आ सकित है | आज की पोस्ट में हम आपको एक ऐसी सरकारी योजना के बारे में बताने जा रहे जो केवल बेटियों के भविष्य सुधारने के लिए बनाई गई है | आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि लाडली लक्ष्मी योजना क्या है | लाडली लक्ष्मी योजना की विशेषताएं | योजना का उद्देश्य | Ladli Laxmi Yojna से लाभ | लाडली लक्ष्मी योजना मध्य प्रदेश ऑनलाइन |  एमपी लाड़ली लक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें  MP Ladli Laxmi Scheme Application Form Online| Ladli Laxmi Yojana in Hindi, आदि |

मध्य प्रदेश की लाडली लक्ष्मी योजना | Ladli Lakshmi Yojana

कन्या भ्रूण हत्या के बढ़ते कांड ने, कन्याओं के प्रति समाज में बढ़ते भेद भाव ने, बेटे और बेटियों के और असमान अनुपात ने सरकार को कन्याओं के लिए निर्णय लेने पर विवश कर दिया। इसी सिलसिले में केंद्र सरकार ने तथा अलग-अलग राज्यों के राज्य सरकारों ने भिन्न-भिन्न फैसले लिए योजनाएं बनाई। उसी में से एक योजना है लाडली लक्ष्मी योजना यह योजना मध्य प्रदेश (LLY MP) के राज्य सरकार द्वारा बेटियों के कल्याणार्थ बनाया गया है। इस योजना के द्वारा बेटियों के जन्म, उनकी अच्छी शिक्षा एवं उनके स्वास्थ्य के प्रति समाज में जागरूकता फैलाए जाने का उद्देश्य रखा गया है। आइए इस योजना के बारे में और अधिक जानकारियां प्राप्त करते हैं। यह जानते हैं की यह लाडली लक्ष्मी योजना क्या है, इस योजना के लाभ क्या है। इसके उद्देश्य क्या है, इसके लाभ उठाने हेतु क्या करना पड़ता है,आवेदन कैसे करना होता है आदि सभी बातें।

क्या है लाडली लक्ष्मी योजना | What is Ladli Lakshmi yojna 

बेटियों की स्थिति में सुधार लाने हेतु उनकी भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को रोकने हेतु दिनांक 2 मई वर्ष 2007 में मध्यप्रदेश के राज्य सरकार माननीय शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा यह योजना चलाई गई। एवं इस योजना की सफलता को देख इसे अन्य राज्य के राज्य सरकारों ने भी अपने-अपने राज्य में लागू कर दिया। एवं अभी वर्तमान में यह योजना बिहार , छत्तीसगढ़, गोवा, झारखंड एवं दिल्ली में लागू है एवं इसका लाभ बेटियों को प्राप्त करवाया जा रहा है।इस योजना से भारत की बेटियों के जीवन में सुधार आएगा और समाज में इन्हें भी सम्मान का जीवन प्राप्त होगा।

लाडली लक्ष्मी योजना की विशेषताएं बताएं | Laddle Laxmi Yojna Qualities 

१. इस योजना की मुख्य विशेषता यह है कि यह बेटियों की दैनीय स्थिति में सुधार लाने के विषय पर जोर देती है। एवं इसके लिए बेटियों को कुछ सहायता राशि भी प्रदान कराई जाती है।

२. इस योजना के तहत योजना से जुड़ी बच्चियों को उनकी पढ़ाई के खर्च के लिए सहयोग राशि सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। ताकि उनके परिवार पर उनकी पढ़ाई का बोझ ना पड़े।

३. स्कूल छोड़ चुकी लड़कियों को इस योजना का लाभ प्रदान नहीं किया जाता है। और वे स्वतः योजना से बाहर कर दी जाती है।

४. योजना से जुड़ी लड़कियों के विवाह हेतु सरकार द्वारा 100000 रुपए की सहायता राशि प्रदान की जाती है। किंतु इसके लिए लड़की का बालिक होना आवश्यक है। 18 वर्ष पूर्ण होने से पहले विवाह हो जाने पर उन्हें विवाह हेतु कोई सहायता प्रदान नहीं किया जाएगा।

इस योजना का उद्देश्य क्या है |

१.इसका पहला उद्देश्य तो समाज में बेटियों को लेकर बढ़ रहे नकारात्मक भाव को खत्म कर बेटियों को भी सुविधा पूर्ण सम्मानजनक जीवन प्राप्त करवाना है।

२. इसके अतिरिक्त लड़की को प्राप्त होने वाली सहायता राशि उसके गरीब परिवार के लिए भी एक सहायक राशि सिद्ध होगी। और उसका पालन शिक्षा एवं विवाह इत्यादि जरूरतें आर्थिक रूप से कमजोर परिवार को प्रभावित नहीं करेगी।

लाडली लक्ष्मी योजना से लाभ क्या क्या हैं:-

१. लाडली लक्ष्मी योजना लागू राज्यों के मुख्यमंत्री लड़कियों के जन्म होने पर बच्ची के नाम से प्रत्येक वर्ष ₹6000 का राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र national saving certificate खरीदते हैं। एवं यह खरीदारी तब तक चलती है जब तक उस बच्ची के जन्म का 5 वर्ष पूर्ण ना हो जाए। इन 5 वर्षों में यह राशि₹30000 की हो चुकी होती है।

२.योजना से जुड़ी बच्ची को कक्षा में आगे बढ़ने पर एक कक्षा से दूसरी कक्षा में जाने पर सरकार द्वारा निर्धारित राशि प्रदान की जाती है।वह सहायता राशि कुछ इस प्रकार है-जब बच्ची छठवीं कक्षा में पास होती है तो उन्हें ₹2000 की सहयोग राशि जब वे कक्षा आठवीं में पास करती है तो ₹4000 एवं उनके कक्षा ग्यारहवीं में पास करने पर ₹6000 की सहयोग राशि प्रदान की जाती है।

३. एवं 12वीं तक की पढ़ाई पूर्ण कर लेने के पश्चात उनके आगे की शिक्षा के लिए उन्हें प्रत्येक मास ₹200 उनके खाते में प्रदान कर दिए जाते हैं। एवं इसके अतिरिक्त ₹400 की राशि भी प्रदान की जाती है।

४. लड़की के 18 वर्ष पूर्ण होने तक यदि विवाह ना हुआ हो तो उन्हें उनकी 18 से 21 वर्ष की आयु के मध्य विवाह के लिए ₹100000 की एक बड़ी सहायता राशि प्रदान की जाती है।

५. दो सकुशल संताने होने के बावजूद यदि कोई माता-पिता एक बेटी को गोद लेते हैं। तो वे इस योजना के अंतर्गत अपना रजिस्ट्रेशन किसी आंगनबाड़ी केंद्र में करवा कर अपनी बेटी के लिए इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

इसके पंजीकरण हेतु आवेदक की पात्रता क्या होनी चाहिए:-

१. इसके लिए वही अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं जो उस राज्य के स्थाई निवासी हों जिस राज्य में यह योजना लागू है।

२. इसकी रजिस्ट्रेशन हेतु बच्ची के माता-पिता को किसी भी प्रकार का कर (tax payment)भुगतान नहीं करना पड़ता।

३. एक परिवार की दो बेटियों को ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जा सकता है। किंतु यदि बच्ची जुड़वा हैं एवं उनके अलावा भी एक बच्ची है। तो ऐसी स्थिति में परिवार की तीनों बच्चियों को योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा।

४. पढ़ाई बीच में ही छोड़ देने पर अथवा 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने से पूर्व विवाह हो जाने पर इस योजना के लाभ से वह लड़की वंचित रह जाएगी।

५. एवं इसके लिए आवेदन करने वाले परिवार गरीबी रेखा (BPL Kota ) के अंतर्गत आने चाहिए।

६. इसका लाभ अनाथ बच्चियों को भी प्राप्त हो सकता है। किंतु इसके लिए उन्हें किसी दंपत्ति द्वारा गोद लिया जाना आवश्यक है। एवं गोद लिए जाने का प्रमाण पत्र भी दिखाना आवश्यक होगा।

इसके लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज क्या-क्या है 

१. इसके आवेदन हेतु बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र चाहिए होगा।

२. एवं उसका निवास प्रमाण पत्र।

३. आवेदन कर्ता की बैंक की जानकारियां एवं बैंक पासबुक की कॉपी।

४. एवं उनका तथा बच्ची का पहचान पत्र आधार कार्ड, राशन कार्ड इत्यादि।

५. इसके अतिरिक्त बच्ची की पासपोर्ट साइज फोटो यह सभी चीजें आवेदन हेतु अनिवार्य होंगी।

इसके ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया बताएं 

१. आवेदन हेतु सर्वप्रथम लाडली लक्ष्मी योजना की आधिकारिक वेबसाइट (लाडली लक्ष्मी. एमपी. गवर्नमेंट. इन/ ladli Lakshmi. MP.in) पर जाएं।

२. इसके पश्चात एप्लीकेशन लेटर के विकल्प को प्रेस कर लें।

३ फिर आपको अगले पेज पर तीन ऑप्शंस दिखाई देंगे। जनरल पब्लिक का विकल्प, प्रोजेक्ट ऑफिसर का विकल्प एवं पब्लिक सर्विस मैनेजमेंट का विकल्प।

४. इसमें से आप को जनरल पब्लिक के विकल्प का चयन करना है।

५. उसके पश्चात आवेदन फॉर्म को अच्छी तरह पढ़ कर भर लें एवं सेव कर लें।

६. फिर अपने फाॅर्म को उपरोक्त बताए गए सभी दस्तावेजों के जेरॉक्स के साथ अटैच करके सबमिट बटन को प्रेस कर दें।

इसके अतिरिक्त किसी भी आंगनबाड़ी केंद्र, साइबर कैफे, किसी भी लोक सेवा केंद्र अथवा इस परियोजना से जुड़े किसी भी कार्यालय से भी इसका फॉर्म प्राप्त कर आवेदन किया जा सकता है। एवं आपके सभी दस्तावेज योजना से संबंधित कार्यालय द्वारा सत्यापित होने चाहिए।

इस योजना से समाज में बेटियों के हालात में आते सुधार को देखा गया है। इसी कारण ये योजना अभी भी लागू है एवं योजना से संबंधित राज्य के लोग अभी भी इसका लाभ ले सकते हैं। क्योंकि यह योजना बेटियों की सशक्तिकरण के लिए बनाया गया है। महिलाओं के कल्याण की भावना से बनाया गया है ।

लाड़ली लक्ष्मी योजना हेल्पलाइन | Ladli Laxmi Yojna Contact Number

अतः इसलिए महिला संबंधित मसले पर सहायता पाने हेतु महिला सशक्तिकरण केंद्र से संपर्क कर सकते हैं संपर्क सूत्र निम्नलिखित है:-

महिला सशक्तिकरण केंद्र संपर्क सूत्र0755 2550 917
महिला सशक्तिकरण हेल्पलाइन नंबर078 79 80 40 79
लाडली योजना ई-मेल[email protected] Com
अधिकारिक वेबसाइट http://ladlilaxmi.mp.gov.in/
बालिका विवरण देखने की प्रक्रियायहाँ देखें,
प्रमाण पत्र यहाँ देखें,

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *