[email protected]
October 22, 2021
11 11 11 AM
ताज़ा खबर
विधिक साक्षरता शिविर में सरकारी योजनाओं की दी गई जानकारी | Vidhik Saksharta Shivir kashipur Uttarakhand डिजिटल हेल्थ कार्ड कैसे बनायें | Digital Health Card Kaise Banaye बिजली से भी चलेगी मारुति कार | Electric Car Kit in India योगेन्द्र गंगवार बने प्रदेश संगठन महामंत्री (उ.प्र.) Tamilrockers free Movie Download or Not | तमिल रोकर्स से फ्री मूवी डाउनलोड करें या नहीं ? [tamilyogi.uk] मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना | Meri Fasal Mera Byora Haryana खेलों में भारत कैसे बनेगा नंबर 1 | Olympics Games in India & Medal स्थाई लोक अदालत का उद्देश्य मुकदमों का शीघ्र निस्तारण : उमेश जोशी राजस्थान की बेरोजगारी भत्ता योजना | Berojgari Bhatta Rajasthan Yojana हाई कोर्ट अधिवक्ता के साथ इंस्पेक्टर की अभद्रता । काशीपुर बार एसोसिएशन ने कि बर्खास्त करने की मांग।
signal app kya hai

सिग्नल एप क्या है ? Signal app Se Paise Kaise Kamaye?

आजकल आप व्हाट्सएप (WhatsApp) कि डाटा पॉलिसी के बारे में जरुर सुन रहे होंगे. क्योंकि जो लोग इनकी शर्तों को नहीं मनांगे वह 8 फरवरी 2021 के बाद व्हाट्सएप का उपयोग नहीं कर पायंगे. जिसके कारण पूरी दुनियां में इनकी शर्तों की अवहेलना कि जा रही है. और इसी के कारण व्हाट्सएप (WhatsApp) के विकल्प सिग्नल (Signal) एप कि बात कि जा रही है. आज कि पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि Signal App kya Hai? और क्या यह व्हाट्सएप (WhatsApp) का विकल्प बन सकता है ?

क्या है सिग्नल एप ? सिग्नल एप किस देश की कम्पनी है?

दोस्तों अगर आप व्हाट्सएप (WhatsApp) का उपयोग करते हैं तो आपको पता होगा कि यह एक सोशल मेस्सगिंग एप है. ठीक उसी तरह Signal भी एक पॉप्युलर मैसेजिंग एप है . जिस प्रकार हम व्हाट्सएप (WhatsApp) पर सन्देश, फोटो और विडियो आदि साझा करते हैं वैसे ही Signal पर भी कर सकते हैं. इसके साथ ही अप इसपर ऑडियो और विडिओ कॉल्स भी कर सकते हैं. अगर आप गुरप कालिंग वीडियो करना चाहते हैं तो भी आपके लिए यह एप बहुत उपयोगी साबित हो सकती है. आप इस एप में 150 लोगों के साथ ग्रुप कालिंग कर सकते हैं. सिग्नल एप का उपयोग आप एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ साथ आईफोन, आईपैड, विंडोज, मैक और लिनक्स पर भी कर सकते हैं ।

signal app in hindi

सिग्नल एप के फाउंडर कौन हैं ? Signal app kis desh ka hai

सिग्नल एप को बनाने वाली कंपनी का नाम है Signal Foundation and Signal Messenger. यह एक नॉन-प्रॉफिट कंपनी है। जोकि अमेरिका में स्थित है. इस एप के बनाने वाले (Signal app Founder) फेमस क्रिप्टोग्राफर मोक्सी मार्लिंस्पाइक हैं. जोकि सिग्नल एप के SEO भी हैं. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि सिग्नल फाउंडेशन को बनाने वाले ब्रायन एक्टन और मार्लिंसपाइक ही व्हाट्सएप के को-फाउंडर हैं. इन्होने ने वर्ष 2014 में व्हाट्सएप को फेसबुक को बेचा था. और वर्ष 2017 में फेसबुक से सम्बन्ध ख़राब होने कि वजह से व्हाट्सएप को छोड़ा था .

क्यों बढ़ रहे सिग्नल एप के डाउनलोड ?

जब से व्हाट्सएप (WhatsApp) ने अपनी नई डेटा पॉलिसी कि घोषणा की है, तब से Signal App चर्चा का विषय बना हुआ है और बहुत बड़े बड़े नामचीन लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं और दूसरे लोगों कि भी इसे डाउनलोड करने को कह रहे हैं. क्योंकि व्हाट्सएप की नई डाटा पोलिसी में यूजर को अपने डेटा शेयर करने की शर्त माननी होगी. अगर नहीं मानी तो यूजर 8 फरवरी 2021 के बाद इस एप का इस्तेमाल नहीं कर पायगा ।

इन शर्तों से बहुत बड़ी संख्या में यूजर्स निराश हो गए हैं और दूसरे सोशल मेसेजिंग एप Signal और Telegram पर जा रहे हैं।
आप सिग्नल एप कि पॉपुलर होने का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि दुनिया के सबसे अमीर शख्सि और इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला के सीईओ एलन मस्कह ने भी सिग्नल एप इस्तेमाल करने की सलाह दे दी है ।

सिग्नल एप के डाउनलोड होने कि रफ़्तार रुकने का नाम ही नहीं ले रही है. पिछले दो – तीन दिन में ही एप्पल और गूगल प्ले स्टोर इस एप को लाखों लोगों ने डाउनलोड किया है. और सिग्नल एप ने टॉप डाउनलोडेड एप्स के चार्ट में व्हाट्सएप को पीछे छोड़कर पहला पायदान हासिल कर लिया है ।

क्या सिग्नल एप व्हाट्सएप का विकल्प बन सकता है?

आज पूरी दुनियां में व्हाट्सएप के नए नियमों कि निंदा की जा रही है, क्योंकि कोई भी यूजर अपना पर्सनल डेटा किसी के साथ भी शेयर नहीं करना चाहता. ऐसे में सिग्नल एप को भरोसेमंद माना जा रहा है. क्योंकि इसके फाउंडर ने जब व्हाट्सएप बनाया था तो यूजर कि प्राइवेसी को आधार बनाया था. और अब सिग्नल एप भी इसी आधार पर बनाया गया है. इस एप में यूजर का डेटा शेयर होने का खतरा नहीं है.

इसका मतलब अप इस बात से समझ सकते हैं कि फेसबुक विज्ञापन से प्रॉफिट कमाने वाली कम्पनी है लेकिन सिग्नल एप एक नॉन प्रॉफिट संस्था है. फेसबुक को यूजर का डाटा शेयर करने के लिए करोड़ों रुपये मिलते हैं. इसीलिए वह व्हाट्सएप के लिए नई पालिसी लाइ है. लेकिन सिग्नल का मकसद पैसा कमाना नहीं है. इसीलिए वह एप इंस्टाल होने पर यूजर कि बहुत कम जानकारी का एक्सेस लेती है.

सिग्नल एप के विशेष फीचर – signal app ki jaankari

1. सिग्नल एप आपके चैट बैकअप को किसी भी क्लाउड (ऑनलाइन स्टोरेज) पर नहीं भेजा जाता है । यह डेटा केवल आपके फोन में ही सेव होता है।
2. इस एप में Data Linked to You नाम का फीचर भी दिया गया है , जिसकी वजह से कोई भी आपकी चैट मैसेजेस का स्क्रीनशॉट भी नहीं ले पाएगा ।
3. Signal App में सुरक्षा कि द्रष्टि से एक खास फीचर और भी है कि यहां आपके पुराने मैसेसेज खुद ही गायब या डिलीट हो जाते हैं।
4. अगर आप ग्रुप बनाना चाहते हैं तो व्हाट्सएप की तरह यहां ग्रुप भी बना सकते हैं लेकिन सुरक्षा कि द्रष्टि से आप किसी को या कोई आपको बिना निमंत्रण के ग्रुप में नहीं जोड़ सकता।
5. सिग्नल का Relay Callsफीचर भी इसे अलग बनाता है । जब आप कॉल करते हैं तो आपका कॉल Signal सर्वर से ही जाता है, जिससे कारण कोई कॉल रिसीव करने वाला यूजर आपके मोबाइल का IP एड्रेस नहीं देख सकता । और ना ही आपकी लोकेशन का पता लगा सकता है .
6. signal ko kaise lock kare – आपकी चैट और संदेशों को सुरक्षित रखने के लिए इसमें आप PIN भी सेट कर सकते हैं, इस पिन के बिना आपके अकाउंट का कोई भी इस्तेमाल नहीं कर सकता । पिन सेट करने या लोक करने या लॉक हटाने के लिए आपको इसकी सेटिंग में जाना होता है. और उसके बाद सिक्यूरिटी या गोपनीयता पर क्लिक करना होता है. सबसे नीचे आपको पिन का विकल्प दिखाई देगा. यहाँ आपना अपना नया पिन सेट कर सकते हैं. जो कि 4 नंबर का हो सकता है.

सिग्नल एप का उपयोग कैसे करें? सिग्नल एप्प टिप्स ट्रिक्स हिंदी में

अगर आप व्हाट्सअप का यूज़ करते हैं तो सिग्नल एप का इस्तेमाल करना आपके लिए कोई मुश्किल काम नहीं है. बस आपको इसकी एप को प्ले स्टोर या एप्पल स्टोर से डाउनलोड करना है .जिसका लिंक नीचे दिया गया है. इंस्टाल करने के बाद आपको इमसें अपना मोबाइल नंबर डालना होता है. इसके बाद आपके मोबाइल पर एक OTP कोड आयगा. जिसे इस एप में डालने के बाद आपका सिनल एप काम करने के लिए तैयार हो जाता है. इसके बाद सबसे पहले आपकी कांटेक्ट लिस्ट दिखाई देती है. जो लोग सिग्नल एप का इस्तेमाल कर रहे हैं वो दिखाई देते हैं. आप किसी भी कांटेक्ट पर क्लिक या टच करके उनसे बात कर सकते हैं. इसके द्वारा आप कोई भी फोटो, वीडियो, फाइल, कांटेक्ट नंबर या लोकेशन भी भेज सकते हैं.

Signal App Download link – डाउनलोड करें

सिग्नल एप्प की जानकारी

Signal Chat में कितनी भाषाएं हैं?

अगर आप अपनी भाषा में Signal Chat एप का इस्तेमाल करना चाहते है तो आपको इसमें भी कोई समस्या नहीं आयगी. क्योंकि यह हिंदी, पंजाबी, गुजरती, बंगाली,उर्दू, मलयालम, मराठी आदि भारतीय भाषाओँ के साथ साथ विश्व की सभी मुख्य 60 भाषाओँ में काम करता है. इसकी भाषा सेटिंग बदलने के लिए आपको सेटिंग में जाकर Appearance पर क्लिक करना होता है.और Language वाले आप्शन पर जाकर अपनी भाषा का चयन करना होगा.

सिग्नल एप कि कमाई कैसे होती है?

कुछ लोगों के मन में यह सवाल जरुर उठता है कि कोई भी कंपनी फ्री में अपनी सेवाए क्यों देती है. जैसे सिग्नल एक नॉन प्रॉफिट होने दावा कर रही है. तो आपको बता दे कि ऐसी कम्पनियाँ दान के पैसे से अपना कारोबार करती हैं. सिग्नल कम्पनी का भी यही कहना है कि जैसे विकी पीडिया कम्पनी अपनी सेवाएँ बिना शुल्क और विज्ञापन के देती है वैसी ही हम भी फ्री सेवा देने की कोशिश करेंगे.

Q & A

1. Kya hum signal app par status laga sakte hain?
Ans. अभी सिग्नल एप में स्टेटस का ऑप्शन नहीं हैं. लेकिन जल्द ही आपको बहुत सारे फीचर के साथ स्टेटस लगाने के ऑप्शन भी मिल जायगा.

2. सिग्नल एप्प से पैसे कैसे कमायें?

Ans. सिग्नल एप्प पर पैसे कमाने का सीधा तरीका अभी नहीं है. लेकिन अगर आप अपना youtube चैनल या कोई ब्लॉग या मोबाइल एप चलाते हैं तो उसके लिंक अपने मित्रो को शेयर कर सकते है. क्योंकि सिग्नल एप्प एक दम नया है और इसपर ग्रुप भी भुत कम बने हैं तो आप सबसे पहले नए ग्रुप्स बनाकर लोगों को जोड़ सकते हैं. और वहां भी अपने लिंक शेयर कर सकते हैं.

आज की पोस्ट में हमने आपको Signal App के विषय में सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है. आज आपको हमने बताया की Singanl app Kya Hai, signal app ke founder kaun hai, Signal app kis desh ka hai, Signal App kaise use karen, Signal App Ke feature kya hai. आशा करते हैं आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई  होगी. अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो हमें जरुर लिखें.

जय हिन्द

हमारी लोकप्रिय पोस्ट

उपयोगी लिंक

सरकारी योजनायेंहोम जॉब्सपैसे कमाने वाले एप
मोटिवेशनलफुल फॉर्मबैंक लोन
ऑनलाइन जॉब्सस्वास्थ्य टिप्सबिजनेस आईडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *