2024 Holi Kab Ki Hai : होली 2024 में कब है, जानिए शुभ मुहूर्त और महत्व

Holi 2024: हर साल होली का त्योहार भारत के अलग-अलग राज्यों में बड़ी ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में होली के त्यौहार की गिनती होती है। भारतीय लोगों की देख देखी अब विदेशों में भी होली का त्यौहार मनाया जाने लगा है। पौराणिक मान्यता के अनुसार होली की शुरूआत भगवान श्री कृष्ण के द्वारा की गई थी। खास तौर पर उत्तर प्रदेश के मथुरा में Holi की काफी ज्यादा रौनक रहती है। फाल्गुन पूर्णिमा पर होलिका दहन किया जाता है और अगले दिन होली खेली जाती है। चलिए साल 2024 में होली कब है, की जानकारी हासिल करते हैं।

होली 2024 डेट (Holi 2024 Date)

साल 2024 में मार्च के महीने में होली का त्योहार 25 तारीख को मनाया जाएगा और इसके एक दिन पहले अर्थात 24 मार्च को होलिका दहन किया जाएगा। होली के पहले दिन सूर्यास्त के बाद होलिका की पूजा की जाती है और फिर उसे जलाया जाता है।

होलिका दहन 2024 मुहूर्त (Holi 2024 Muhurat)

फाल्गुन महीने की पूर्णिमा तिथि 24 मार्च 2024 को सुबह 9:54 पर होलिका दहन के अच्छे मुहूर्त की स्टार्टिंग हो जाएगी और इसकी समाप्ति अगले दिन अर्थात 25 मार्च को दोपहर 12:29 पर होगी।

होलिक दहन समय – रात 11.13 – देर रात 12.07 (24 मार्च 2024)

अवधि 1 घंटा 14 मिनट

होलिका दहन 2024 भद्रा काल (Holi 2024 Bhadra kaal)

होलिका को जलाने के समय भद्रा काल अवश्य ही देखा जाता है। होलिका दहन को लेकर के यह बात कही गई है कि, यह पर्व भद्रा रहित पूर्णिमा की रात को मनाना सही होता है। साल 2024 में होलिका दहन के समय भद्रा का कोई भी साया नहीं है।

भद्रा पूँछ – शाम 06.33 – रात 07.53
भद्रा मुख – रात 07.53 – रात 10.06

होली का महत्व (Holi Significance)

यह एक ऐसा त्यौहार होता है, जब लोग आपस में सभी गले शिकवा भूल करके एक हो जाते हैं। धर्म ग्रंथो में इस बात का वर्णन है कि, देवताओं में सबसे ज्यादा भगवान श्री कृष्ण को यह त्यौहार काफी ज्यादा पसंद है। यही कारण है कि, उत्तर प्रदेश के Braj इलाके में इस त्यौहार को तकरीबन 40 दिनों तक मनाया जाता है।

यह त्यौहार लोगों के जीवन में उमंग लेकर के आते हैं। हमारे देश में होली के त्यौहार को अलग-अलग शहरों में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है, जिसमें सबसे प्रसिद्ध बरसाना की लठमार होली है, जिसे देखने के लिए लोग विदेश से भी आते हैं। धार्मिक नजरिया से देखा जाए तो होलिका दहन करने से सभी प्रकार की नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है और वातावरण में पॉजिटिव शक्तियों का संचार होता है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *