GeM Registration in Hindi

दोस्तों अगर आप सरकार के साथ बिजनेस करना चाहते हैं तो यह जानकारी आपकी बहुत सहायता कर सकती है | क्योंकि आज की पोस्ट में हम आपको एक ऐसे सरकारी जेम पोर्टल (GeM Portal) की जानकारी देने जा रहे हैं जहाँ पर सकरार हर साल करोड़ों रूपये की खरीदारी कर रही है | जैसे आपने flipkart, अमेज़न जैसी शोपिंग पोर्टल का नाम जरुर सुना होगा | वैसे ही अब केंद्र सरकार ने यह जेम पोर्टल बनाया है | जहाना पर सभी सरकारी विभाग अपने उपयोग के लिए वस्तुएं इसी GeM ई-पोर्टल से खरीदेंगे | इसको बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने अपने सभी सरकारी संस्थाओं को गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस यानी की GeM Portal से जोड़ दिया है | आज हम आपको इसी पोर्टल की महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं |

आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि GeM क्या है। GeM Full form | कौन कर सकता है यह बिजनेस | जेम पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें | अगर आप भी इस सरकारी ई-मार्केटप्लेस  से  जुड़कर सरकार के साथ बिजनेस करना चाहते हैं तो अपना पंजीकरण करवा लें | यह आपके लिए एक अच्छा बिजनेस आइडिया हो सकता है |

GeM क्या है। GeM Full form

जी ई एम का पूरा नाम है गवर्नमेंट E मार्केटप्लेस यह एक तरह का ई कॉमर्स पोर्टल हैं जिसमें वाणिज्य मंत्रालय ने सन अगस्त 2016 में Gen को शुरू किया था इसका मेन मकसद सरकारी विभागों तथा मंत्रालयों की खरीद के लिए एक खुली और पारदर्शी व्यवस्था बनाना है अभी इस प्लेटफार्म पर लगभग 1,0 62344 से भी अधिक वेडर्स रजिस्टर्ड है

मैं आपको बताना चाहूंगा सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की खरीदारी के लिए Gen पोर्टल को बनाया था दोस्तों मैं आपको बताना चाहूंगा बनाए गए ऑनलाइन पोर्टल जेम से लगभग। 15,135 करोड़ों रुपए की खरीदारी की है रक्षा रेल मंत्रालय तथा केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र CPPSE ने जेम से सबसे अधिक खरीदारी की है

तो मैं आपको बता दूं कि सरकार की ई मार्केटप्लेस जेम पोर्टल की शुरुआत सन 2016 में की थी पोर्टल सारथी केंद्रीय मंत्रालयों और तथा राज्यों और विभागों को ऑनलाइन खरीद की सुविधा देने के लिए शुरू किया गया था तो दोस्तों मैं आपको बताना चाहूंगा कि अगर आप खुद का बिजनेस कर रहे हैं तो आप पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करके आप भी अपना बिजनेस कर सकते हैं और आप भी मोटी कमाई कर सकते हैं

कौन कर सकता है यह बिजनेस

कोई भी विक्रेता है जो उत्पादन करता है और उपयुक्त एवं प्रमाणित उत्पाद बेचता है, वह GeM  पर आकर बिजनेस कर सकता है | उसका GeM पर स्वागत है }| उसका GeM Portal पर आकर रजिस्टर्ड होना भी अपेक्षित है |

जैसे उदाहरण के तौर पर ले लेते हैं अगर आप ने लैपटॉप बेचते हैं, तो आप GeM Portal पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें | इसके बाद भारत सरकार का कोई भी डिपार्टमेंट लैपटॉप खरीदने के लिए टेंडर निकालता है | तो आप को भी इस टेंडर की जानकारी दी जाएगी और। आप भी इस टेंडर के लिए बोली लगा सकते हैं |

जेम पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें | GeM Portal Registration

GeM Portal Registration करने के लिए आपके पास आधार कार्ड तथा पैन कार्ड और मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी होना अति आवश्यक है | आधार कार्ड या पंजीकरण बैंक खाता तथा केवाईसी दस्तावेज, जैसे पहचान पत्र आवास प्रमाण पत्र होना ही चाहिए है | GeM Portal पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर पर जाए | और आगे के स्टेप फॉलो करें :

https://mkp.gem.gov.in/

gem portal registration in hindi

  1. सबसे पहले आपको GeM Portal पर रेजिस्ट्रेशन करने के लिए इसकी अधिकारिक वेबसाइट खोलनी होगी और ऊपर की तरफ आपोक sing up पर क्लिक करना होगा । जहाँ आपको दो विकल्प दिखाई देंगे | एक बायर और दूसरा सेलर | अगर आप विक्रेता हैं तो सेलर पर क्लिक कर दें |
  2. इसके बाद आपको अगला पेज दिखाई देगा जिसपर टर्म एंड कंडीशन (REVIEW TERMS & CONDITIONS) पर क्लिक करना होगा और इनके नियम और पॉलिसी पढने के बाद चेक बॉक्स पर क्लिक करके आगे बढ़ना होगा ।
  3. उसके बाद आपसे संस्थाया बिजनिस का टाइप (Business / Organisation Type) पूछेगा उसमे आपको बताना है कि आपकी संस्था या फर्म किस प्रकार की है । एकल है, पार्टनर शिप में है या लिमिटेड, सरकारी है या अन्य ।
  4. फिर आपको यहाँ अपनी संस्था या फर्म का नाम नाम डालना है |
  5. इसके बाद आपको रेजिस्ट्रेशन का टाइप चुनना है जैसे आप आधार से करना पंजीकरण करना चाहते हैं या या पैन कार्ड से |
  6. अगर आप आधार का विकल्प चुनते हैं तो आपके मोबाइल का ओटीपी से वेरिफिकेशन करना होगा । आपके आधार कार्ड में जो भी नंबर रजिस्टर होगा उसपर एक वन टाइम पासवर्ड आयगा | जिसे आपको इस पोर्टल पर लिखना होगा |
  7. आधार के otp वेरीफिकेशन होने के बाद आपको अपना नाम और ईमेल एड्रेस सत्यापित करना होगा | और जेम पोर्टल  पर अपना नया यूजर नेम ओर पासवर्ड बनाना होगा ।
  8. इसके बाद आपको create पर क्लिक करना होगा | इसके बाद आप से पूछेगा की आप प्राइमरी (प्राथमिक) सेलर हैं या सेकंडरी सेलर | यह आपको स्वयं ही देखना होगा और उस पर क्लिक करना होगा ।
  9. इस प्रकार सभी स्टेप्स पूरे करने के बाद आपका सेलर अकाउंट बन जायगा |
  10. अब जब आप GeM Portal पर लॉगिन करंगे तो आपको अपनी या आपनी की कुछ जानकारी और भरनी होगी | और उसे वेरिफाइ भी  करना होगा | इसके बाद आप सरकार से अपने एकाउंट द्सेवारा टेंडर ले सकते हैं |

GeM Portal login यहाँ से करें – https://sso.gem.gov.in/ARXSSO/oauth/doLogin

जेम पोर्टल फ़ीस | GeM registration FEE

अगर आप जर्म पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना चाहते है तो आपको आरम्भ में कोई फीस नहीं देनी होती | लेकिन अगर आपका टर्नओवर एक साल में 20 लाख से ऊपर हो जता है तो आपको वन टाइम के लिए 10 हजार रुपये एक साल के लिए देने होते हैं जिसे GeM annual milestone charges कहा जाता है |

जेम पोर्टल के लाभ

देश के लोगों को रोज़गार देने के लिए सरकार ने यह पोर्टल बनाया है | इससे जुड़ने के आपको बहुत सारे फायदे हो सकते हैं | जेम की प्रमुख विशेषता इनमें से कुछ निम्नलिखित है :-

  • GeM पोर्टल एक बिचौलिया रहित पारदर्शी मार्केट प्लेस है |
  • GeM Portal से जुड़कर विक्रेताओ का सभी सरकारी विभागो में सीधा संपर्क हो जाता है |
  • खरीदने वाला अगर चाहे तो वेंडर रेटिंग सिस्टम की भी जांच कर सकता है |
  • जेम पोर्टल एक पारदर्शि प्लेटफार्म है जो खरीददारी में सरलता प्रदान करता है |
  • यहाँ कोई भी व्यक्ति अपनी जरुरत की वस्तुएं तथा सेवाएँ आसानी से ऑनलाइन ही खरीद तथा बेच सकता है |
  • GeM पोर्टल पर वस्तुओ तथा सेवाओं की उचित कीमत के लिए टेंडर प्रणाली भी उपलब्ध है |
  • यहाँ आपको वस्तुओ तथा सेवाओं की व्यक्तिगत तथा उत्पादों की सूचि भी उपलब्ध करवाई जाती है |
  • अगर खरीदी गई वस्तु उपयुक्त नहीं है तो वापसी का भी प्रावधान उपलब्ध है |
  • बायर और सेलर को सभी जरुरी सुविधाएँ आसानी से देने के लिए GeM पर एकल खिड़की प्रणाली है |

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको एक सरकारी ऑनलाइन बाज़ार की जानकारी देने की कोशिश की है | आज हमने आपको बताया कि GeM क्या है ? GeM Registration Process in Hindi | GeM के फायदे आदि |

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *