[email protected]
September 28, 2022
11 11 11 AM
75th_nirankari_sant_smagam_arambh.jpg

निरंकारी सतगुरु माता जी द्वारा 75 वें वार्षिक संत समागम सेवा का शुभारंभ

शेयर जरुर करें

काशीपुर 18 सितंबर 2022 । दि० 16 से 20 नवंबर को होने वाले 75 वें वार्षिक निरंकारी संत समागम के शुभारंभ पर सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के पावन कर कमलों द्वारा समागम सेवा का उद्घाटन संत निरंकारी आध्यात्मिक स्थल समालखा में किया गया! इस अवसर पर संत निरंकारी मंडल कार्यकारिणी समिति के सदस्य, केंद्रीय योजना एवं सलाहकार बोर्ड के सदस्य, सेवा दल के अधिकारी, स्वयंसेवक तथा दिल्ली एवं आसपास के क्षेत्रों के अतिरिक्त अन्य राज्यों के साथ उत्तराखंड से बड़ी संख्या में सभी श्रद्धालु भक्त सम्मिलित हुए।
सतगुरु माता जी का हार्दिक अभिनंदन आदरणीय श्री सुखदेव सिंह (समन्वय समिति कमेटी, अध्यक्ष) एवं आदरणीय श्री जोगिंदर सुखीजा (सचिव संत निरंकारी मंडल) द्वारा किया गया।


संत समागम सेवा के शुभारंभ के अवसर पर संपूर्ण निरंकारी जगत एवं प्रभु प्रेमी जनों को संबोधित करते हुए सतगुरु माता जी ने कहा कि सेवा की भावना पूर्णतः समर्पण वाली होनी चाहिए! सेवाभाव हुक्म अनुसार एवं मन को पूर्णतः समर्पित करके की जाती है। तभी वह सार्थक कहलाती है! सेवा केवल कार्य रूप में नहीं, अपितु उसमें जब सेवा का भाव आ जाता है, तब उसकी खुशबू महक दार हो जाती है! सेवा को सदैव चेतनता से ही करना चाहिए और यह ध्यान में रखते हुए कि कभी हमारे कर्म, हमारे व्यवहार से जाने अनजाने में भी किसी का तिरस्कार ना हो, सभी का सत्कार ही करना है। क्योंकि सभी संतो में इस निरंकार का ही वास है। इसी भक्ति भाव से सेवा को स्वीकार करें और मन से सिमरन करते हुए अपनी सेवाओं का योगदान देते चले जाएं।
निरंकारी संत समागम की यह अविरल श्रंखला अपने 74 वर्ष सफलतापूर्वक संपन्न कर चुकी है, और इस वर्ष 75 वें वार्षिक भव्य समागम की प्रतीक्षा प्रत्येक श्रद्धालु भक्त पलकें बिछाए हुए हर्षोल्लास के साथ कर रहे हैं। सतगुरु माता जी की पावन अध्यक्षता में होने वाले इस दिव्य संत समागम का भरपूर आनंद प्राप्त करने हेतु देश एवं विदेशों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु एवं प्रभु प्रेमी जन सम्मिलित होंगे। समागम स्थल पर प्रतिदिन अनेक महात्मा, सेवादल के भाई बहन और भक्तजन अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे। स्थानीय जसपुर जोन की ब्रांच काशीपुर के सेवादार भाई- बहन बसों के द्वारा 2 अक्टूबर को संचालक श्री प्रवीन अरोड़ा जी की देखरेख में समालखा समागम स्थल पर जा रहे हैं। काशीपुर के अतिरिक्त जसपुर बाजपुर से भी इसी प्रकार से सेवा पर जाने वाली बसों की व्यवस्थाएं की गई हैं।
75 वें वार्षिक निरंकारी संत समागम में सम्मिलित होने वाले सभी श्रद्धालुओं को अधिक से अधिक सुख सुविधाएं प्रदान करने हेतु शामियाना की एक सुंदर नगरी स्थापित की जाएगी। जिसमें भक्तों के ठहरने, जलपान, एवं उनकी मूलभूत सुविधाओं का उचित प्रबंध प्रशासन एवं अधिकारियों के सहयोग द्वारा किया जा रहा है। समागम स्थल पर विभिन्न प्रबंध कार्यालय, प्रकाशन स्थल, प्रदर्शनी, लंगर, कैंटीन एवं डिस्पेंसरी की सुविधाएं उचित रूप से उपलब्ध करवाई जाएंगी।
यातायात प्रबंधन के अंतर्गत इस वर्ष भी रेलवे स्टेशन, बस अड्डे एवं हवाई अड्डे से समागम में पहुंचने वाले सभी श्रद्धालु एवं प्रभु प्रेमियों को लाने एवं ले जाने की उचित व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही अन्य वाहनों के लिए पार्किंग क्षेत्रों की भी व्यवस्था की जा रही है।
अनेकता में एकता का अनुपम दृश्य प्रदर्शित करने वाला यह दिव्य संत समागम हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी सभी भक्तों के लिए प्रेरणादाई एवं आनंददायक होगा। यह समस्त जानकारी स्थानीय निरंकारी मीडिया प्रभारी प्रकाश खेड़ा द्वारा दी गई।


शेयर जरुर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.