Methi Ke Fayde

नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख में हम लोग मेथी के औषधीय गुणों के बारे में जानेंगे। वैसे तो मेथी हर घरों में ही उपलब्ध होती है पर इसके औषधीय गुणों से कुछ लोग ही परिचित हैं। हमारी रसोई में आसानी से प्राप्त हो जाने वाली यह छोटी सी वस्तु भी आयुर्वेद की दृष्टि में बड़ा ही महत्व रखती है। यह छोटी सी दिखने वाली चीज अपने भीतर अनेकों औषधीय गुणों को समेटे हुए है। इसके सही उपयोग को न जानने के कारण हमारी परेशानी का इलाज घर पर ही होने के बावजूद हम छोटे- छोटे कष्टों को झेलते रहते हैं । इसलिए हमें लोगों को इसके औषधीय गुणों से परिचित कराना चाहिए ।तो चलिए इसके कुछ औषधीय गुणों के विषय में जानते हैं।

आपको बता दें कि मैथी को इंग्लिश में Fenugreek कहते हैं |

1. सिर दर्द :-

मेथी में पुराने से पुराना सिर दर्द को जड़ से मिटाने की क्षमता है। चाहे कितना ही पुराना सिर दर्द क्यों ना हो बस एक चम्मच मेथी को एक गिलास पानी में रात को भिगने के लिए रख दें और सुबह खाली पेट में उस भीगे हुए ( या फुले हुए ) मेथी को खा लें और इस पानी को पी जाएं। ऐसा तब तक करें जब तक आपको सिर दर्द से निजात ना मिल जाए। इसे बीच में ही छोड़ना नहीं। यह अवश्य ही कुछ ही दिनों में आपको सिर दर्द से छुटकारा दिला देगा।

2. मूत्र संबंधी परेशानी: –

कई लोगों को मूत्र जलन तथा मूत्र संक्रमण की परेशानी होती है। यदि मेथी को जौ और तिल के साथ भिगोकर पिया जाए तो यह मूत्र जलन तथा मूत्र संक्रमण में बड़ा ही कारगर उपाय है। अर्थात मेथी जौ और तिल (एक-एक चम्मच) को एक गिलास पानी में डालकर 10 से 12 घंटे के लिए छोड़ दिया जाए और फिर उस पानी को छानकर पी लिया जाए तो यह उपाय इस परेशानी को जड़ से दूर कर सकता है।

3. थायराइड की समस्या :-

वर्तमान समय में थायराइड की समस्या आम हो गई है जिससे परेशान लोग रोज दवाइयां खा-खाकर अपनी इस समस्या को तो कंट्रोल कर लेते हैं पर इसका भारी प्रभाव उनके हृदय पर होता है। जिससे आगे चलकर हृदय रोग भी हो सकता है और चिकित्सा में देर करने से या लापरवाही करने से यह थायराइड मधुमेह का भी कारण बन सकता है। तो आखिर ऐसा क्या करें जिससे इन परेशानियों से बचा जा सके? तो इस थायराइड नामक आम समस्या का इलाज भी तो आम होना चाहिए, तो इसका भी समाधान मेथी है। मेथी को भूनकर उसका पाउडर बनाकर रख लें और नित्य प्रातः एक चम्मच खाली पेट में खाएं और एक गिलास पानी पी लें इससे आपको अवश्य लाभ होगा बस धैर्य से इस उपाय को करते रहने की आवश्यकता है।

4. चेहरे के लिए :-

मेथी के पत्तों का पेस्ट बनाकर यदि चेहरे पर लगाया जाए तो इससे चेहरे पर ग्लो आता है चेहरे पर रौनक बनी रहती है और चेहरे का रूखापन भी दूर हो जाता है।

5. कान का बहना :-

कान का बहना भी एक बड़ा कष्टप्रद समस्या है। इसके इलाज के लिए मेथी के बीजों को दूध में पीसकर उसे अच्छी तरह छानकर हल्का गर्म क्योंकि कान की चमड़ी बड़ी ही कोमल होती है इसलिए सहन करने योग्य गर्म करके एक से दो बूंद कानों में डालने से कान बहने की समस्या खत्म हो जाती है।

6. त्वचा संबंधी बीमारी :-

मेथी का लेप कई प्रकार के त्वचा रोग को नष्ट करने के लिए अत्यंत कारगर है। मेथी के लेप का सेवन करने से कई प्रकार का त्वचा रोग नष्ट होता है।

इन सबके अतिरिक्त मेथी अन्य कई प्रकार से कारगर है। प्रसूता महिलाओं को मेथी के लड्डू खिलाए जाने से उनके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी सिद्ध होता है।

निष्कर्ष:-

मेथी और मेथी के पत्ते अनेक प्रकार से उपयोगी हैं इसलिए इनका उपयोग खानपान में भी करते रहना चाहिए और आवश्यकता अनुसार विभिन्न प्रकार की समस्याओं के समाधान के लिए उनका उपयोग भी करना चाहिए। यह एक बहुत ही अच्छा घरेलू उपचार का साधन है। मेथी के पत्तों का उपयोग खानपान में विभिन्न प्रकार से किया जा सकता है ।जैसे:- साग ,चटनी ,रोटी आदि बनाकर खाया जा सकता है।

उपयोगी लिंक

सरकारी योजनायेंहोम जॉब्सपैसे कमाने वाले एप
मोटिवेशनलफुल फॉर्मबैंक लोन
ऑनलाइन जॉब्सस्वास्थ्य टिप्सबिजनेस आईडिया

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *