गौ मांस पर प्रतिबन्ध – कितनी आस्था ?

एक बात हर  धर्म के लोगों को माननी पड़ेगी-जब आप किसी दूसरे के धर्म का सम्मान नहीं करोगे तो वो लोग आपका और आपके धर्म का सम्मान कैसे करें?”

महाराष्ट्र में नई  सरकार ने   गौ मांस  पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। 19 साल पहले भाजपा -शिवसेना सरकार ने दोनों सदनों में गौ वंश हत्या प्रतिबन्ध पर विधेयक पारित किया था और उसको  मंजूरी के लिए राष्ट्रपति को भेजा था। अब दुबारा बीजेपी-शिवसेना सरकार बनने पर गौ हत्या पर पूर्णता प्रतिबन्ध लगाया  गया है।  ये भारत जैसे आध्यात्मिक और धार्मिक देश के लिए बहुत अच्छा है। 

हिन्दू धर्म में गाय को माता के रूप में पूजा जाता है। और वेदों और ग्रंथों में भी गौ माता से प्राप्त बहुत सी औषधियों के बारे में बताया गया है। इसीलिए हिन्दू धर्म के लोग इस कानून के बनने पर जोर देते रहे हैं। और जो लोग इसका विरोध करते हैं वो हिन्दू धर्म की भावनाओं का अपमान करते हैं। 
महाराष्ट्र में इस कानून के आने से बहुत से लोग विरोध कर रहे हैं और हिन्दू धर्म की आस्था का अपमान  कर रहे है । क्योंकि पुराणों और वेदों में तो किसी भी प्रकार का मांस खाना राक्षसों का कार्य बताया गया है और गौ का मांस खाने वालो को हिन्दू धर्म के लोग कभी माफ़ नहीं करेंगे।

हिन्दू धर्म के लोगों को भी गौ माता को माता के रूप में सम्मान देना चाहिए और सेवा करनी चाहिए न की सिर्फ दिखावे के लिए। 

इनसाइड कवरेज न्यूज़ – www.insidecoverage.in, www.kashipurcity.com, www.adpaper.in

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *