baba_hardevsinghji_smriti_tree_plantation.jpg

काशीपुर 22फरवरी 2022, संत निरंकारी मिशन द्वारा बाबा हरदेव सिंह जी की स्मृति में संपूर्ण भारतवर्ष में 100 के करीब निरंकारी सत्संग भवनों में निशुल्क नेत्र जांच शिविरों का आयोजन किया गया! जिसका समय प्रातः 10:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक रहा! मरीजों की जांच वहां पर उपस्थित योग्य डॉक्टरों की अध्यक्षता में की गयी। इसके अतिरिक्त मोतियाबिंद से संबंधित रोगियों का ऑपरेशन सरकारी अस्पताल में किया गया और मिशन की ओर से जरूरतमंद मरीजों को दवाईयां नजर के चश्मे भी दिए गये। ताकि अधिक से अधिक संख्या में मरीज इससे लाभान्वित हो सकें।
जैसा की विदित ही है कि निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी के सानिध्य में संत निरंकारी मिशन ने आध्यात्मिकता द्वारा विश्व को प्रेम, दया और करुणा एकत्व जैसे भावों से जोड़कर दीवार रहित संसार की परिकल्पना को साकार किया। उन्होंने भक्तों को आध्यात्मिकता के साथ साथ मानवता एवं प्रकृति की सेवा करते हुए अपने कर्तव्यों को निभाने की प्रेरणा दी। वर्तमान में इसी श्रंखला को सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज निरंतर आगे बढ़ा रहे हैं। इसी मंतव्य की पूर्ति हेतु आज 23 फरवरी को यह नेत्र जांच शिविर लगाए जा रहे हैं। सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने ब्रह्म ज्ञान के साथ-साथ प्यार और नम्रता का भी संदेश दिया।
इसके अतिरिक्त कोरोना काल में जब समस्त भारतवर्ष के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो गई थी, तब मिशन की ओर से “वन नेस वन परियोजना” के अंतर्गत 21 अगस्त 2021 को संपूर्ण भारत वर्ष में लगभग 350 स्थानों पर डेढ़ लाख के करीब वृक्ष रोपित किए गए और साथ ही उनकी देखभाल करने हेतु 3 वर्षों तक गोद लेकर उनके पालन पोषण का भी संकल्प लिया गया।
इसी महा अभियान को आगे बढ़ाते हुए मिशन के सेवादारों द्वारा आज के दिन 50,000 वृक्ष और लगाए गये एवं उनकी निरंतर देखभाल भी की जाएगी। ताकि प्रदूषण का स्तर कम किया जा सके एवं प्राणवायु अर्थात ऑक्सीजन का निर्माण अधिक से अधिक हो सके। क्योंकि मनुष्य का जीवन जिस प्राणवायु पर आधारित है वह हमें इन वृक्षों के माध्यम द्वारा ही प्राप्त होती है।
संत निरंकारी मिशन द्वारा प्रतिवर्ष स्वच्छता और वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया जाता रहा है। जिसमें मानव कल्याण की भलाई के लिए बाबा हरदेव सिंह जी का यही दृष्टिकोण था कि प्रदूषण अंदर हो या बाहर दोनों ही हानिकारक हैं किंतु इस वर्ष कोरोना की विषम परिस्थितियों के कारण मिशन की ओर से जहां जहां पर संत निरंकारी सत्संग भवन हैं केवल उन्हीं स्थानों पर एवं उनके आसपास के क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाया गया।


उक्त जानकारी संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के सचिव आदरणीय श्री जोगिंदर सुखीजा द्वारा दी गई। इन सभी अभियानों का आयोजन कोविड-19 के दिशा निर्देशों की पालना करते हुए ही किया गया। इसी क्रम में काशीपुर में भी निरंकारी सत्संग भवन पर एवं उसके आसपास स्वच्छता अभियान प्रातः 8:00 बजे से काविड-19 के नियमों का पालन करते हुए चलाया गया। इससे पूर्व सरकारी अस्पताल में लगाए गए वृक्षारोपण के तहत उनकी देखरेख करते हुए व्यवस्था की गई।
इसके अतिरिक्त जल संरक्षण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम रखते हुए पालघर जिले के आदिवासी तलावरी क्षेत्र में सायवन गांव के घुलुमपाड़ा क्षेत्र में तृतीय सीमेंट नाला, बांध (CNB) का निर्माण किया गया! जिसका लोकार्पण आज दोपहर, 23 फरवरी 2022 को जनरल सेक्रेटरी संत निरंकारी मंडल आदरणीय श्री सुखदेव सिंह जी के कर कमलों द्वारा किया जायेगा ! इससे पूर्व भी दो सीमेंट नाला बांध(CNB) का निर्माण आदिवासी जनजातियों के कल्याण हेतु किया जा चुका है।
उल्लेखनीय है कि संत निरंकारी मिशन सदैव ही मानव कल्याण के लिए अग्रणी रहा है। जिनमें मुख्यतः स्वास्थ्य शिक्षा एवं सशक्तिकरण के लिए सेवाएं की गई हैं। और सभी सेवाएं निरंतर जारी हैं। यह जानकारी काशीपुर निरंकारी मीडिया प्रभारी प्रकाश कुमार द्वारा दी गई।

By Jitendra Arora

- एडिटर,क्रिएटर, मोटिवेटर, | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *