[email protected]
May 25, 2022
11 11 11 AM
55th-nirankari-sant-samagam-maharashtra-2022.jpg

भक्ति, प्रेम एवं अलौकिक आनंद का अनूठा संगम 55वां वार्षिक निरंकारी संत समागम

शेयर जरुर करें

काशीपुर 7 फरवरी 2022 निरंकारी सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज की पावन अध्यक्षता में महाराष्ट्र का 55वां वार्षिक निरंकारी संत समागम दिनांक 11.12 एवं 13 फरवरी 2022 को वर्चुअल रूप में आयोजित किया जायेगा। जिसका भरपूर आनंद विश्वभर के सभी श्रद्धालु भक्त घर बैठे आनलाईन माध्यम द्वारा प्राप्त करेंगे। प्रति वर्ष नववर्ष के आगमन से ही संपूर्ण महाराष्ट्र के साथ-साथ विश्वभर के समस्त श्रद्धालुओं को इस भक्ति, प्रेम एवं अलौकिक आनंद की अनुभूति प्रदान करवाने वाले समागम की प्रतीक्षा रहती है। जिसमें विभिन्न संस्कृतियों एवं सभ्यताओं का अद्भुत संगम देखने को मिलता है। जो अपनी बहुरंगी छटा द्वारा अनेकता में एकता का चित्रण प्रदर्शित करते हुए विश्व बंधुत्व की भावना को दर्शाता है। इसके वर्ष महाराष्ट्र के संपूर्ण समागम का सीधा प्रसारण पहली बार मिशन की वेबसाइट पर *सांय 05:00 बजे से रात्रि 09:30 बजे तक* एवं *साधना टी.वी चैनल पर सांय 06.00 बजे से रात्रि 09:30 बजे प्रसारित किया जायेगा।* इस सूचना से समस्त साध संगत में हर्षोल्लास का वातावरण है। इस वर्ष समागम का विषय *विश्वास भक्ति आनंद* है। भक्ति का तात्पर्य है--जब हम इस निरंकार की पहचान करके जीवन में इसे अपना आधार बना लेते हैं और इससे इकमिक हो जाते हैैं! तब जीवन वास्तविक रूप में भक्तिमय हो जाता है। उसके पश्चात विश्वास भक्ति को और सुदृढ़ बनाता है। तदोपरांत ऐसी अवस्था जीवन में आ जाती है जब आनंद एवं सुख की अनुभूति स्वत ही प्राप्त हो जाती है। फिर सभी में इस एक प्रभु का ही दर्शन होता है। और सब के लिए हृदय में केवल कल्याण की ही भावना उत्पन्न होती है हम यह कह सकते हैं कि *विश्वास भक्ति आनंद* वास्तविक रूप में आध्यात्मिकता के तीनों आयाम हैं। जिनको अपनाकर मनुष्य स्वयं का तो कल्याण करता ही है,अपितु औरों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत बनता है। यही इस समागम का उद्देश्य भी है।

वैश्विक महामारी कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए समागम सेवाओं में संलग्न एवं सम्मिलित होने वाले सभी प्रतिभागियों की कोविड-19 (RT-PCR) रैपिड एंटीजन टेस्ट जांच भी कराई जा रही है। उनके लिए कोविड-19 के दो बार का टीकाकरण भी अनिवार्य किया गया है। इसके अतिरिक्त थर्मल स्क्रीनिंग, मास्क, सैनिटाइजेशन, सोशलडिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

समागम के मुख्य कार्यक्रम


समागम का शुभारंभ 11 फरवरी 2022( शुक्रवार) को शाम 5:00 बजे से किया जाएगा जिसमें सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज “मानवता के नाम संदेश” ( massage to mankind) प्रेषित करेंगे! उसके पश्चात समागम का आरंभ होगा जिसमें देश के विभिन्न प्रांतों से आए हुए प्रतिभागियों द्वारा अपने शुभ भावों को सतगुरु के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा और तदोपरांत रात्रि 9:00 बजे से 9:30 बजे तक सदगुरु माता जी अपने दिव्य प्रवचनों द्वारा समस्त साध संगत को आशीर्वाद प्रदान करेंगे।


समागम के दूसरे दिन 12 फरवरी 2022, शनिवार को सेवा दल रैली का आयोजन दोपहर 12:00 बजे से 2:00 बजे तक किया जाएगा। रैली का समापन सतगुरु माता जी के आशीष वचनों द्वारा संपन्न होगा। जिसके उपरांत सायं 5:00 से सत्संग कार्यक्रम का आरंभ होगा और अंततः सत्संग का समापन रात्रि 9:00 बजे से 9:30 बजे तक सदगुरु माता जी के दिव्य प्रवचनों द्वारा होगा।


समागम के तीसरे दिन 13 फरवरी 2022, रविवार को शाम 5:00 बजे से सत्संग का कार्यक्रम आरंभ होगा जिसमें गीतों कविताओं एवं विचारों को प्रस्तुत किया जाएगा और इसके अतिरिक्त एक बहु भाषीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। जो तीसरे दिन का मुख्य आकर्षण होगा जिसमें श्रद्धा भक्ति विश्वास रहे, मन में आनंद का वास रहे! इस विषय पर विश्व भर के कवि सज्जन विभिन्न भाषाओं में अपने शुभ भावों को व्यक्त करेंगे और अंत में सतगुरु माता जी के दिव्य प्रवचनों द्वारा समागम का समापन होगा। यह समस्त जानकारी स्थानीय काशीपुर निरंकारी मीडिया प्रभारी प्रकाश खेड़ा द्वारा दी गई।


शेयर जरुर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.