रेलवे टिकट है कंफर्म तो ट्रैवलिंग के दौरान ट्रेन में मिलेगा स्वादिष्ट खाना, कीमत है सिर्फ ₹20-Cheap Food in Indian Train

Railways to serve ₹20 meals for passengers travelling in general: हमारे भारत देश में रोजाना करोड़ों लोग ट्रेन के माध्यम से किसी एक जगह से किसी दूसरी जगह पर यात्रा करते हैं। जानकारी के अनुसार देश में रोजाना तकरीबन ढाई करोड़ लोग ट्रेन में सफर करते हैं। अगर ऑस्ट्रेलिया की जनसंख्या से इस जनसंख्या को जोड़कर के देखा जाए तो ट्रेन से सफर करने वाले लोगों की जनसंख्या ऑस्ट्रेलिया की जनसंख्या से थोड़ी सी ही कम है। इंडियन रेलवे को दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क कहा जाता है, जिसकी वजह से भारतीय रेलवे की काफी ज्यादा कमाई होती है। भारतीय रेलवे में ट्रैवलिंग के साथ-साथ नाश्ता पानी की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी आईआरसीटीसी के द्वारा निभाई जाती है।

अगर आप भी अक्सर रेलवे में यात्रा करते हैं और खाने की महंगी कीमतों को लेकर के परेशान है तो एक तगड़ी खुशखबरी इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको देना चाहते हैं। दरअसल भारतीय रेलवे के द्वारा एक नई योजना शुरू की गई है, जिसमें आपको सिर्फ ₹20 देकर के भरपेट भोजन हासिल हो सकेगा। चलिए इसके बारे में पूरी जानकारी हासिल करते हैं।

20 और 50 रुपये है कीमत

भारतीय रेलवे के द्वारा जो सुविधा शुरू की गई है, उसमें अब बहुत ही कम दाम में आपको भरपेट भोजन रेलवे में सफर करने के दौरान हासिल हो सकेगा। इस योजना के अंतर्गत सिर्फ ₹20 और ₹50 में खाने के पैकेट ट्रैवल करने वाले पैसेंजर को रेलवे के द्वारा दिए जाएंगे, क्योंकि भारतीय रेलवे ने इस बात पर गौर किया कि देश में रेलवे के माध्यम से ट्रैवल करने वाले अधिकतर लोग आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं। ऐसे में वह खाने की व्यवस्था सही प्रकार से नहीं कर पाते हैं। ऐसे ही लोगों के लिए सरकार ने यह सुविधा शुरू की हुई है, ताकि मिडिल क्लास के लोगों को रेलवे में सस्ती कीमत में अच्छा भोजन हासिल हो सके।

रेलवे इस नई सुविधा के अंतर्गत जो पैकेट देगी वह 350 ग्राम का होगा, जिसमें कई प्रकार के व्यंजन शामिल होंगे। हर रूट के हिसाब से पैकेट में मिलने वाला व्यंजन बदलता रहेगा। जैसे की साउथ इंडियन लोगों को जो पसंद है वह उन्हें पैकेट में दिया जाएगा वही नॉर्थ इंडियन लोगों को जो भोजन अच्छा लगता है वह उन्हें पैकेट में दिया जाएगा।

64 स्टेशन से शुरू होगा ट्रायल

इंडियन रेलवे के द्वारा इस नई योजना की शुरुआत सेलेक्ट किए गए 64 रेलवे स्टेशन से की जाएगी। तकरीबन 6 महीने तक इन स्टेशन पर ट्रायल के तौर पर इस योजना को चालू किया जाएगा और बाद में देश के सभी स्टेशन पर इसे लागू कर दिया जाएगा। रेलवे ने यह भी कहा है कि नई योजना के तहत खाने के जो स्टॉल होंगे वह जनरल डिब्बे के सामने होंगे ताकि यात्रियों को भोजन लेने के लिए दूर तक न जाना पड़े।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *