हेट क्राइम पर जवाब दें ट्रम्प: US में मारे गए भारतीय इंजीनियर पर बोलीं हिलेरी

हैदराबाद.अमेरिका के कंसास में हुई फायरिंग में मारे गए भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला (32) की बॉडी को सोमवार रात यहां लाया गया। बता दें कि 22 फरवरी को कंसास के एक बार में अमेरिकी शख्स ने बहस के बाद श्रीनिवास पर गोली चला दी थी, जिसमें उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, उनके दोस्त आलोक मदसानी जख्मी हो गए थे। उधर, हिलेरी क्लिंटन ने कहा- “हेट क्राइम पर प्रेसिडेंट को जवाब देना चाहिए।” श्रीनिवास का अंतिम संस्कार आज…

– कुचीभोतला फैमिली के मुताबिक, श्रीनिवास का अंतिम संस्कार मंगलवार को किया गया जाएगा।
– उधर, तेलंगाना सरकार ने श्रीनिवास की बॉडी को एयरपोर्ट से घर लाने के सभी अरेंजमेंट किए। देर रात रिश्तेदार और उनके दोस्त घर पर ही मौजूद थे।
– श्रीनिवास की वाइफ सुनयना दुमाला ने बताया- “परिवार ने यहां के खतरे से पहले ही अलर्ट किया था। साथ ही, कई बार भारत लौटने की बात कही थी। लेकिन उन्होंने हर बार बात को टाल दिया। 
– सुनयना भी देर रात यूएस से हैदराबाद पहुंचीं।

क्लिंटन ने कहा- हेट क्राइम बढ़ रहा है
– हिलेरी ने ट्वीट कर लिखा- “नफरत और हेट क्राइम बढ़ रहा है। हम इसे लेकर कोई कदम नहीं उठा रहे हैं। ट्रम्प को इस मामले पर फैसला लेना चाहिए और जवाब देना चाहिए।”
– बता दें कि कंसास फायरिंग पर ट्रम्प ने कोई बयान नहीं दिया है।
– पिछले हफ्ते व्हाइट हाउस के प्रेस सेक्रेटरी शॉन स्पाइसर ने कहा था कि कंसास शूटिंग को हेट क्राइम करार देना अभी जल्दबाजी होगा।
व्हाइट हाउस ने तोड़ी चुप्पी
– आखिरकार ट्रम्प एडमिनिसट्रेशन ने कंसास फायरिंग में भारतीय की मौत पर चुप्पी तोड़ दी।
– व्हाइट हाउस के प्रेस सेक्रेटरी शॉन स्पाइसर ने पासिंग रेफरेंस देते हुए कहा, “कई लोग घटना को हेट क्राइम बता रहे हैं। मैं पूरे यूरोप में यहूदी कम्युनिटी पर हुए हमले की निंदा करता हूं।”
– “हम लॉ एन्फोर्समेंट से आगे नहीं जाना चाहते। मैं कंसास शूटिंग के बारे में यही कहना चाहता हूं कि अब तक जो रिपोर्ट्स आ रही हैं, वो परेशान करने वाली हैं।”

सुषमा ने इयान ग्रिलेटको हीरो बताया
– फॉरेन मिनिस्टर सुषमा स्वराज इयान ग्रिलेट को हीरो करार दिया। उन्होंने कहा कि भारत इयान को सैल्यूट करता है और उनके जल्द ही रिकवर होने की उम्मीद करता है।
– बता दें कि फायरिंग के वक्त इयान हमलावर एडम पुरिन्टन के पीछे बैठा था। अपनी जान जोखिम में डालकर इयान ने श्रीनिवास और आलोक की जान बचाने की कोशिश की थी।

क्या हुआ था 22 फरवरी की रात?
– श्रीनिवास और आलोक मदसानी ओलाथे में जीपीएस बनाने वाली कंपनी गार्मिन के एविएशन विंग में काम करते थे। 
– 22 फरवरी की रात वे ओलाथे के ऑस्टिन बार एंड ग्रिल बार में थे। तभी यूएस नेवी से रिटायर्ड एडम पुरिन्टन (51) नाम का एक शख्स उनसे उलझ गया। 
– एडम रेसिस्ट कमेंट करने लगा। उसने दोनों को आतंकी कहा। बोला कि मेरे देश से निकल जाओ। तुम मेरे देश में क्यों आए हो? तुम हमसे बेहतर कैसे हो? 
– बहस के बाद एडम को बार से निकाल दिया गया। थोड़ी ही देर में वह गन लेकर लौटा और दोनों पर गोली चला दी। 
– इसके पांच घंटे बाद एडम दूसरी बार में शराब पीने पहुंचा। वहां उसने लोगों को बताया कि वह मिडल-ईस्ट के दो लोगों को मारकर आया है और छुपने की जगह चाहिए। बार टेंडर ने पुलिस बुलाकर उसे गिरफ्तार करवा दिया।– हमले में श्रीनिवास की मौत हो गई। उसके दोस्त आलोक मदसानी भी जख्मी हुए, फिलहाल वे ठीक हैं।
online-paise-kaise-kamaye-banner22.jpg

Leave a Reply