उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) 2018 के ढाई लाख से ज्यादा फार्म फंस गये हैं। पिछले 5-6 दिनों से वेबसाइट काम नहीं कर रही है और क्रैश हो रही है । कई लोगों के बैंक से तो पैसा कट गया है लेकिन फॉर्म पूरा नहीं हो सकता है, कई अभ्यर्थियों के खाते से दो-तीन बार फीस का रुपया कट चुका है I जिनके फॉर्म भर चुके हैं उनका प्रिंट भी नहीं निकल रहा है । फॉर्म भरने के चक्कर में लाखों अभ्यर्थी इधर उधर भटक रहे हैं I

यूपी के परीक्षा नियामक प्राधिकारी से मिली सूचना के मुताबिक , पांच लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। लेकिन अब तक बमुश्किल 1 लाख फार्म ही अंतिम रूप से भर सके हैं।
इतनी ज्यादा संख्या में फॉर्म भरने के कारण स्टेट डाटा सेंटर का सर्वर और एनआईसी की वेबसाइट ओवरलोड हो गई है और सर्वर डाउन हो गया है । जिस निजी बैंक से ऑनलाइन फीस जमा करने की व्यवस्था की गई है, वह भी काम नहीं कर रहा और ना ही हेल्प इने सेवा पर दिए नम्बर को उठाया जा रहा है, ईमेल के जवाब भी नहीं दिए जा रहे । कई अभ्यर्थी पूरी-पूरी रात फार्म भरने की कोशिश रहे हैं लेकिन सफलता नहीं मिल रही है ।
आपको बता दें की यूपी टीईटी-18 के लिए 18 सितंबर से ऑनलाइन आवेदन शुरू हुए थे I पंजीकरण की अंतिम तिथि 4 अक्टूबर शाम छह बजे तक है। आवेदन शुल्क पांच अक्टूबर तक भरे जा सकते हैं । पूर्ण रूप से भरे हुए ऑनलाइन आवेदन के प्रिंट लेने की आखिरी तारीख 6 अक्टूबर शाम 6 बजे तक रखी गई है। पंजीकरण के बाद प्रिंट निकालने पर कई लोगों के फार्म खाली निकल रहे हैं।
अब इन सबके फॉर्म कैसे और कब भरें जायंगे कोई नहीं बता पा रहा है, जिन लोगों की फीस कट चुकी है उनके पैसे कौन वापस करेगा किसी को नहीं पता है, बैंक में फोन करो तो कहते है 45 दिन का टाइम लगता है पैसे की जानकारी देने में , जब तक तो फॉर्म की आखरी तारिख भी निकल जायगा I अगर यूपी तेत के फॉर्म नहीं भरे जाते तो लाखो अभ्यर्थियों की भविष्य अधर में लटक जायगा I इसके लिए योगी सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए क्योंकि फॉर्म भरने वाले अभ्यर्थियों का समय और भविष्य बहुत अमूल्य है I

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *