अब शराब पर शिवराज की टेढ़ी नजर, कहा- एमपी में एक-एक दुकानें कराएंगे बंद

मध्य प्रदेश में भी सरकार शराब बंदी की तैयारी में हैं. सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इसका ऐलान किया. शिवराज ने कहा- चरणबद्ध तरीके से एक-एक कर शराब की दुकानें बंद कराएंगे. बता दें कि बिहार में सरकार बनने के बाद नीतीश कुमार ने पहली बार शराबबंदी की थी. इसके बाद से कई राज्यों में शराबबंदी की मांग उठती रही है.

शिवराज ने क्या कहा?
शिवराज ने कहा- पूरे राज्य में चरणबद्ध तरीके से शराबबंदी लागू की जाएगी. नमामी देवी नर्मदे- नर्मदा सेवा यात्रा के तहत नरसिंहपुर जिले के नीमखेड़ा इलाके में एक प्रोग्राम के दौरान उन्होंने कहा- पहले चरण में राज्य सरकार नर्मदा नदी के किनारे पांच किलोमीटर तक सभी शराब की दुकानें बंद कराएगी. इलके बाद अगले चरण में रिहाइशी इलाकों में शराब बंदी की जाएगी. खासकर उन इलाकों से जहां शैक्षिक संस्थान और धार्मिक स्थान है्ं, उनके आसपास की दुकानें बंद कराई जाएंगी.
नशा मुक्ति अभियान चलेगा
इस बीच उन्होंने ऐलान किया कि मध्य प्रदेश सरकार राज्य में नशा मुक्ति अभियान भी चलाएगी. बता दें कि पिछले महीने भर से राज्य में जगह-जगह शराब बंद करने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है.
मध्य प्रदेश में शराबबंदी की मांग तेज
बता दें कि बिहार की तर्ज पर मध्य प्रदेश में भी शराब बंदी की मांग की जा रही है. पिछले दिनों 5 अप्रैल को प्रदर्शनकारियों ने रायसेन जिले के बरेली इलाके में शराब बंदी के विरोध के दौरान दो गाड़ियों को फूंक दिया था.
इससे पहले 3 अप्रैल को बीजेपी के इंदौर-1 के विधायक सुदर्शन गुप्ता ने मांग की थी कि राज्य में सभी जगह शराब बंद किया जाए. इसके अलावा इंदौर, सागर, बुरहानपुर, छतरपुर, विदिशा, नरसिंहपुर, सतना, मोरेना, देवास और कुछ इलाकों में पिछले एक महीने से शराब बंदी को लेकर विरोध-प्रदर्शन हो रहा है.

पैसे कैसे कमायें ? Paise Kaise Kamaye