नई दिल्ली(पीटीआई)। नेपाल में भूकंप के हल्के झटके दर्ज किए गए हैं, हालांकि किसी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। नेशनल सिस्मोलॉजिकल सेंटर के मुताबिक सुबह 9.22 बजे 4.6 और करीब आधे घंटे बाद 4.7 तीव्रता के झटके दर्ज किए गए। पहले भूकंप का केंद्र सेंट्रल नेपाल के सालू में था, जबकि दूसरे भूकंप का केंद्र पश्चिम नेपाल के सवर्ना में था। जानकारों का कहना है कि सेंट्रल और वेस्टर्न नेपाल में कई फॉल्ट लाइंस हैं जहां जमीन के अंदर हलचल होती रहती है। 
भूकंप के झटके काठमांडू घाटी में भी महसूस किए गए। विशेषज्ञों के मुताबिक 2015 के विनाशकारी भूकंप के बाद ये ऑफ्टरशॉक है। नेपाल में अब तक 450 से ज्यादा ऑफ्टरशॉक दर्ज किए गए हैं। 2015 के विनाशकारी आठ हजार से ज्यादा लोग काल के गाल में समा गए थे। दुनिया में आए बड़े भूकंप
11 अगस्त 2012- ईरान के शहर तबरीज में 6.3 और 6.4 की तीव्रता वाले दो भूकंपों से 306 लोगों की मौत और तीन हजार से ज्यादा लोग जख्मी।
11 मार्च 2011- जापान के उत्तर पूर्वी तट पर समुद्र के नीचे 9.0 की तीव्रता के भूकंप आने के बाद आई सुनामी से करीब 18 हजार 900 लोगों की मौत। फुकुशिमा डाईची परमाणु संयंत्र में संकट पैदा हुआ।
23 अक्टूबर 2011- पूर्वी तुर्की में 7.2 की तीव्रता वाले भूकंप से तबाही। 600 से ज्यादा लोगों की मौत और कम से कम 4150 जख्मी।
12 जनवरी 2010- हैती में 7.0 की तीव्रता वाले भूकंप से ढाई लाख से तीन लाख के बीच लोगों की मौत।
14 अप्रैल 2010- उत्तर पश्चिम चीन के क्विंघाई प्रांत के युशु काउंटी में 6.9 की तीव्रता वाले भूकंप में तीन हजार लोगों की मौत और कई लापता।

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *