यूपी चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के मतदान के लिए प्रचार में अब सभी दलों ने अपनी ताकत झोंक दी है. अंतिम चरण में 8 मार्च को 7 जिलों की 40 सीटों पर मतदान होना है. पीएम मोदी ने शुक्रवार को मिर्जापुर में रैली को संबोधित किया.
मिर्जापुर में बोले पीएम

– अब यह सवाल नहीं है कि किसकी सरकार बनेगी, यह चुनाव सपा-बसपा-कांग्रेस की छुट्टी का उत्सव है

– जब यहां सपा-बसपा की सरकार थी तो यहां 13 साल पहले मुलायम सिंह ने बरेली और मिर्जापुर के बीच पुल के निर्माण की आधारशिला रखी थी, लेकिन अभी तक पूरा नहीं हुआ, लेकिन सीएम कह रहे हैं कि काम बोलता है. 
– बेटा बाप के किए हुए कामों को कभी अधूरा नहीं छोड़ता, लेकिन अखिलेश ने अपने पिता के इरादों को भी पूरा नहीं किया, ये कैसा काम बोलता है.
– जो खुद अपना काम नहीं बता पा रहे हैं सिर्फ काम का ढोल पीटने को फैशन बताते हैं, आजकल वह मुझे काम बताते हैं. 
– अखिलेश ने मुझे कहा कि जरा बिजली के तार को पकड़ कर तो देखो, आपके अपने नये यार 27 साल यूपी बेहाल से बहुत गले लगते हैं. 
– यह मालूम नहीं है कि खाट किसकी खड़ी होगी, आपके यार तो खाट सभा करने निकले थे और लोग खटिया उठा कर ले गये, क्योंकि लोगों को पता था कि उनकी ही खाट है. 
– एक खाट सभा ने उनका हाथ बिजली के तार पर लगा, तो गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बचिये, तो राहुल जी ने कहा कि गुलाम नबी आजाद जी चिंता नहीं कीजिये, यहां तार है पर बिजली नहीं होती. अब मुझे इसे छूने की जरुरत नहीं. लेकिन 11 मार्च को सपा-बसपा-कांग्रेस को करंट लगेगा. 
– मिर्जापुर से इतनी नफरत क्यों, बहनजी का मिर्जापुर के पत्थरों से क्या झगड़ा था. यहां से अपनी मूर्तियां बनवाने के लिए ले गये थे, लेकिन जब जांच शुरू हुई तो उन्होंने राजस्थान का पत्थर बताया.
– यहां पर 13 साल से पुल नहीं बनाया लेकिन सैफई में होता तो जल्दी बन जाता, बहनजी को अपनी मूर्तियां बनवानी होती तो इतना इंतजार नहीं होता. इसलिए इन्हें इन चुनावों में चुन-चुन कर साफ कर दीजिये. 
– यहां के पीतल के उद्योग को बर्बाद कर दिया गया, जिसके कारण यहां के लोगों को गुजरात और महाराष्ट्र जाना पड़ता है. 
– यूपी में थाने में शिकायत दर्ज करने के लिए भी रेट कार्ड लगा है, यहां भ्रष्टाचार दीमक की तरह घुस गया है.
– यूपी के भ्रष्टाचार से अशोक चक्रधर की लाइनें याद आती हैं, उन्होंने कहा है कि नजराना, हकराना, शुकराना, जबराना, इन्हीं चार प्रकार के भ्रष्टाचार से यूपी बर्बाद है. इन सभी से मुक्ति की एक दवाई एक ही है- हराना, इसलिए आप सपा-कांग्रेस-बसपा को हराइये. 
– पीएम ने इन चार शब्दों के मतलब भी बताये, नजराना- काम कराने के पहले शुकराना- काम होने के बाद हकराना- फाइल भी आगे नहीं बढ़ेगी जबराना- काम भी नहीं, करना भी नहीं 
– यहां पर टूरिज्म को बढ़ावा नहीं दिया गया है, टूरिज्म से हर किसी को फायदा होता है. 
– मैं सिर्फ वादे नहीं करता, काम करके दिखाता हूं. हम गुजरात से लेकर यहां तक की पाइपलाइन बिछा रहे हैं और अपने कार्यकाल में हम इसे पूरा करके दिखाएंगे. 
– जब मैंने लालकिले से शौचालय बनाने की बात की तो लोगों ने मेरा मजाक उड़ाया, लेकिन हमनें लाखों लोगों के घर में शौचालय बनाकर दिखाया. 
– यहां सब कुछ होते हुए भी सरकार की नीयत खराब होने की वजह से यहां से रोजी-रोटी कमाने के लिए लोग पश्चिम की तरफ जाते हैं
– मेरे कहने पर सवा करोड़ परिवारों ने गैस की सब्सिडी छोड़ी, इसके बाद हमनें 5 करोड़ गैस कनेक्शन मुफ्त में देने की बात कही. 11 महीने में 1.80 करोड़ परिवारों को कनेक्शन दे चुके हैं.
– बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में किसानों का कर्ज माफ करने की बात कही, मैं उत्तर प्रदेश का सांसद होने के नाते विश्वास दिलाता हूं कि 11 मार्च को बीजेपी की सरकार बनने के बाद सबसे पहले किसानों का कर्जमाफ कर दिया जायेगा. 
– बीजेपी शासित राज्य में 60 फीसदी से ऊपर किसानों को बीमा का फायदा मिला, लेकिन यूपी में 14 फीसदी किसानों को ही मिला
– सपा-बसपा-कांग्रेस हमेशा एक दूसरे के खिलाफ रहते थे, लेकिन नोटबंदी के मुद्दे पर ये सब इकट्ठे हुए. 
– 8 तारीख को जब मैंने ‘मेरे प्यारे देशवासियों’ कहा इन्हें तब से दिक्कत है. 
7वें चरण में यहां हैं चुनाव
सातवें चरण में जिन सात जिलों में वोटिंग होनी है उनमें गाजीपुर, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर, भदोही, सोनभद्र, जौनपुर जैसे जिले शामिल हैं. यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर पीएम मोदी अब तक 19 जगहों में रैलियां कर चुके है. सातवें चरण में होने वाली वोटिंग के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी गाजीपुर में चुनावी रैली को संबोधित करेंगे.

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *