E-WAY बिल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

1. E-WAY बिल उत्तर प्रदेश में 09.02.2018 से अनिवार्य रूप से लागू हो जायेगा I
2. यह उत्तर प्रदेश से उत्तर प्रदेश तथा उत्तर प्रदेश से बाहर (दोनों परिस्थितयों) में माल भेजने पर लागू होगा I
3. हर रजिस्टर्ड सप्लायर को माल भेजने से पहले E-WAY बिल GENERATE करना होगा और उस E-WAY बिल का नंबर या प्रिंटआउट बिल के साथ लगाना होगा
4. जो माल भेजा जा रहा है वह चाहे किसी भी उद्देश्य जैसे जॉब वर्क, ब्रांच ट्रान्सफर, रिपेयर, सेल आदि के लिये हो और उस माल की कीमत 50 हजार से ज्यादा हो तो E-WAY बिल GENERATE करना अनिवार्य है I
5. यदि एक ही VEHICLE में एक से ज्यादा पार्टियों को माल भेजा जाता है और उस सारे माल की कीमत 50 हजार से ज्यादा हो जाती है तब भी E-WAY बिल GENERATE करना अनिवार्य है I
6. यदि माल राज्य के अन्दर व 10 किमी से कम दूरी के लिये भेजा जाता है तो भी E-WAY बिल GENEREATE करना अनिवार्य होगा परन्तु उसमे VEHICLE NO. भरने की आवश्यकता नहीं है I
7. यदि कोई क्रेता UNREGISTERED SUPPLER से PURCHASE करता है और उस माल की कीमत 50 हजार से ज्यादा है तो उस स्थिति में क्रेता को E-WAY बिल GENERATE करना होगा I
8. यदि माल JOB WORK के लिये दूसरे राज्य में जा रहा है तो E-WAY बिल GENERATE करना अनिवार्य है चाहे माल की कीमत कितनी भी क्यों न हो I
9. यदि SUPPLIER ने E-WAY बिल GENERATE कर लिया है और किसी कारण से माल नहीं भेजा जा सका तो यह E-WAY बिल 24 घंटे के अन्दर कैंसिल किया जा सकता I
10. E-WAY बिल GENERATE करने के बाद माल क्रेता के पास पहुँचने की समय सीमा निम्न प्रकार है :-
दूरी समय सीमा
100 किमी 24 घंटे
200 किमी 48 घंटे
300 किमी 72 घंटे
इसी प्रकार हर 100 किमी के लिये 24 घंटे I
11. यदि माल NON MOTOR VEHICLE (रिक्शा, बुग्गी) में भेजा जाता है तो E-WAY बिल के नियम लागू नहीं होंगे चाहे माल की वैल्यू कितनी भी क्यों न हो I
12. जिन वस्तुओं पर GST नहीं लगता उस माल को भेजने के लिये भी E-WAY बिल की जरुरत नहीं है I

(Whats App)

By Jitendra Arora

- एडिटर, मोटिवेटर, क्रिएटर | - वेब & एप डेवलपर |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *